Latest News

राजस्थान में दिवाली से पहले 1.5 लाख संविदा कर्मचारी होंगे नियमित, शिक्षा राज्यमंत्री ने दिये संकेत

प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार विभिन्न विभागों में कार्यरत करीब डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों (Contract workers) को दिवाली से पहले नियमित (Regularize) करने का तोहफा दे सकती है. संविदाकर्मियों की समस्याओं के लिए गठित कैबिनेट सब कमेटी (Cabinet sub committee) की आखिरी बैठक के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने इसके संकेत दिए हैं. डोटासरा ने कहा कि सभी विभागों से आंकड़े जुटा लिए गए हैं. संविदाकर्मियों को नियमित करने का फार्मूला भी तैयार कर लिया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को रिपोर्ट सौंपी जाएगी. नियमित करने के मसले पर सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का भी पालन किया जायेगा.

राजस्थान में दिवाली से पहले 1.5 लाख संविदा कर्मचारी होंगे नियमित, शिक्षा राज्यमंत्री ने दिये संकेत

राजस्थान में दिवाली से पहले 1.5 लाख संविदा कर्मचारी होंगे नियमित, शिक्षा राज्यमंत्री ने दिये संकेत

डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। राज्‍य सरकार इन्‍हें दीवाली से पहले नियमित करके बड़ा तोहफा देने की तैयारी में है. यदि सब कुछ ठीक रहा तो जल्‍द ही इस पर पक्‍की खबर सामने आ सकती है. कैबिनेट सब कमेटी ने संविदा कर्मियों को नियमित करने के फार्मूले पर मुहर भी लगा दी है. अब कमेटी अगले माह तक इस बारे में फाइनल रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपेगी. इसके बाद रिपोर्ट को फिर कैबिनेट में रखा जाएगा. कैबिनेट की मंजूरी के बाद अधिकारिक आदेश जारी किए जाएंगे. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार दीपावली से पहले प्रदेश के करीब डेढ़ लाख संविदा कर्मियों को नियमित करने की तैयारी कर रही है. प्रदेश के विभिन्न सरकारी विभागों में कार्यरत संविदा कर्मियों की लंबे समय से नियमित करने की मांग सहित अन्य समस्याओं को हल करने के लिए राज्य सरकार ने बुनियादी फार्मूला तैयार कर लिया है.

मुख्यमंत्री लेंगे अंतिम निर्णय

कैबिनेट सब कमेटी के अध्यक्ष ऊर्जा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कहा कि कमेटी ने अपना कामकाज पूरा कर लिया है. अब कमेटी अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौपेंगी. उन्होंने कहा कि कमेटी की सिफारिशों पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ही लेंगे.

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए यहां क्लिक करें : Click Here

चुनाव में किया था नियमित करने का वादा

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान अपने चुनावी घोषणा-पत्र में प्रदेश के विभिन्न विभागों में कार्यरत संविदा कर्मियों को नियमित करने का वादा किया था।. प्रदेश के विभिन्न भागों में करीब डेढ़ लाख संविदाकर्मी कार्यरत हैं. इनमें ग्रामीण एवं पंचायती राज विभाग और शिक्षा विभाग में सबसे ज्यादा संविदाकर्मी कार्यरत है.

Leave a Comment

You cannot copy content of this page