Rajasthan Lock Down 31 March 2020 राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन

Rajasthan Lock Down 31 March 2020 राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन – देशभर में रविवार काे जनता कर्फ्यू से पहले शनिवार को ही प्रदेश में 31 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. वजह है- पिछले तीन दिनों में ही कोरोना के 22 नए मरीज मिलना. सीएम अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा- लाॅकडाउन के तहत दवा, किराना, मीडिया और चिकित्सा जैसी जरूरी सेवाओं के अलावा सभी सरकारी व निजी दफ्तर, मॉल्स, दुकानें, फैक्ट्रियां व सार्वजनिक परिवहन आदि बंद रहेंगे.

Rajasthan Lock Down 31 March 2020 राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन

राजस्थान में कोरोना वायरस के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार रात को ऐलान किया, ‘कोरोना वायरस के मद्देनजर राज्य 22 मार्च से 31 मार्च तक लॉकडाउन में रहेगा. सब्जी, डेयरी जैसी रोजमर्रा की जरूरत वाले सामानों को बेचने वाली दुकानें और मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे.’ गहलोत ने यह फैसला शीर्ष अधिकारियों के साथ हुई एक हाई-लेवल मीटिंग में लिया.

Rajasthan Lock Down 31 March 2020 राजस्थान में 31 मार्च तक लॉक डाउन

चीन से आई महामारी से पूरा विश्व चिंतित है. सरकार लोगों की जान बचाने के लिए हर बड़े फैसले ले रही है. अब जरूरत है कि मानवता को बचाने की इस लड़ाई में राजस्थान का हर व्यक्ति शामिल हो. आज जरूरत है कि प्रदेश का हर व्यक्ति अपने नागरिक धर्म का पालन करके सरकार का सहयोग करें. इस निर्णायक लड़ाई में जहां भी सरकार की जरूरत होगी, वहां वह नागरिकों के साथ खड़ी मिलेगी. -अशोक गहलोत, सीएम

प्रधानमंत्री ने अपील की है कि खाैफ के बीच जरूरी सेवाओं में जुटे लाेगाें काे धन्यवाद कहने के लिए शाम 5 बजे अपने घर के दरवाजे पर खड़े हाेकर 5 मिनट तक ताली, थाली या घंटी बजाएं.

लॉकडाउन के दौरान अस्पताल, मेडिकल स्टोर, किराना, पानी, टेलीफोन, मीडिया संस्थान, गैस एजेंसियां, दूध, सब्जी सहित अन्य आवश्यक सेवाएं चालू रहेंगी. बाजार बंद रहेंगे. पेट्रोल पंप खुलेंगे, लेकिन उन पर सीमित संख्या में कर्मचारी काम करेंगे. वितरक बंधु अखबार घरों तक पहुंचा सकेंगे. उनकी सेवाएं बाधित नहीं हैं. सरस पार्लर के बूथ खुले रहेंगे. लाे फ्लाेर बसें, ओला-उबर और इंटर स्टेट बसें भी नहीं चलेंगी. कई ट्रेनें रद्द की गई हैं, जबकि कई री-शेड्यूल की गईं. ऑनलाइन फूड डिलीवरी भी 31 मार्च तक बंद रहेगी.
{यही नहीं, राजस्थान की सभी सीमाएं सील रहेंगी. जिले की सीमाएं भी बंद रहेंगी. अगर बाहरी राज्य से अगर कोई राजस्थान आना चाहता है तो चैक पाइंट पर उसे कारण बताना होगा. वहां पर उसके स्वास्थ्य की जांच के बाद ही एंट्री मिलेगी.

एनएफएसए से जुड़े परिवारों को दो माह का गेहूं निःशुल्क

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा के इस दौर में लोगों को खाद्य सामग्री को लेकर किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए. उन्होंने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से जुड़े एक करोड़ से अधिक परिवारों जिनको एक रूपए एवं दो रूपए प्रतिकिलो गेहूं मिलता है, उन्हें मई माह तक गेहूं निःशुल्क दिए जाने के निर्देश दिए हैं.

शहरी क्षेत्रों में जरूरतमंद परिवारों को मिलेंगे खाद्य सामग्री के पैकेट

गहलोत ने शहरी क्षेत्रों में स्ट्रीट वेण्डर्स, दिहाड़ी मजदूरों एवं ऐसे जरूरतमंद परिवारों जो एनएफएसए की सूची से बाहर हैं, को एक अप्रेल से दो माह तक आवश्यक खाद्य सामग्री के पैकेट निशुल्क उपलब्ध कराए जाने के भी निर्देश दिए हैं. ये पैकेट जिला प्रशासन तथा नगरपालिकाओं के सहयोग से उपलब्ध करवाए जाएंगे.

सामाजिक सुरक्षा पेंशन का वितरण अप्रेल के प्रथम सप्ताह में

गहलोत ने कहा कि कोरोना वायरस से पैदा हुए हालातों में सभी प्रकार के पेंशनधारियों को आर्थिक परेशानी का सामना नहीं करना पडे़, इसलिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभार्थियों को वितरण अप्रेल माह के प्रथम सप्ताह तक कर दिया जाएगा.

लॉक डाउन के दौरान फैक्ट्री श्रमिकों को मिले सवैतनिक अवकाश

मुख्यमंत्री ने अपील की है कि लॉक डाउन के दौरान बंद रहने वाली फैक्ट्रियों में किसी भी मजदूर को नौकरी से नहीं निकाला जाए तथा उन्हें इस अवधि का सवैतनिक अवकाश देना चाहिए. उन्होंने इसके लिए श्रम विभाग को निर्देश दिए कि फैक्ट्री प्रबंधकों से निरंतर सम्पर्क रखा जाए.

राजस्थान शैक्षिक समाचार

Raj. Patwari Whatsapp Group

REET 2019 Whatsapp Group

RPSC Update Group

Railway 2020 Group

Raj. Police WhatsApp Group

Raj. High Court Group D

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top