WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

RRB NTPC Group D Exam 2022 Suspended रेलवे ने एनटीपीसी और रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षाओं पर लगाई रोक आदेश जारी

RRB NTPC Group D 2022 Exam Suspended रेलवे ने एनटीपीसी और रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षाओं पर लगाई रोक आदेश जारी: RRB Group D and NTPC Exam 2022 Suspended रेलवे एनटीपीसी और ग्रुप डी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. अभ्यर्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने एनटीपीसी और ग्रुप डी की भर्ती फिलहाल के लिए स्थगित कर दी है. रेलवे ने प्रदर्शनकारी परीक्षार्थियों की शिकायतों के लिए एक जांच कमेटी बनाई है. एक जांच कमेटी द्वारा एनटीपीसी एग्जाम की जांच की जाएगी. यह समिति विरोध कर रहे परीक्षार्थियों की आपत्तियों को सुनेगी और इन पर विचार करेगी. इसके पश्चात समिति के द्वारा अपनी रिपोर्ट रेल मंत्रालय को सौंपी जाएगी. आपको बता दें कि रेलवे ग्रुप डी भर्ती की परीक्षा तिथि घोषित की जा चुकी है. वही परीक्षार्थी रेलवे एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. लेटेस्ट अपडेट के लिए अभ्यर्थी रेलवे की ऑफिशियल वेबसाइट को समय-समय पर विजिट करते रहे.

RRB NTPC Group D 2022 Suspended रेलवे ने एनटीपीसी और रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षाओं पर लगाई रोक आदेश जारी

रेलवे भर्ती परीक्षाओं को लेकर बवाल करने वाले अभ्यर्थियों के लिए रेल मंत्रालय ने चेतावनी जारी की है। रेल मंत्रालय, रेलवे भर्ती बोर्ड की ओर से कहा गया है कि ऐसे अभ्यर्थियों पर आजीवन प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

रेलवे के अभ्यर्थियों ने आज किया था देशव्यापी रेल रोको आंदोलन का ऐलान

गुस्साए अभ्यर्थियों ने 26 जनवरी 2022 को एक विशाल आंदोलन करने का ऐलान किया था। रेल रोको आंदोलन को देशव्यापी बनाने के लिए मैसेज को ज्यादा से ज्यादा अभ्यर्थियों के पास भेजा जा रहा हैं. अभ्यर्थियों ने इस आंदोलन के माध्यम से NTPC रिजल्ट में संशोधन, RRB Group D की परीक्षा से सीबीटी-2 हटाने की मांग और रेलवे भर्ती परीक्षाओं का कैलेंडर जारी करने सहित अन्य मुद्दों पर रेल चक्का जाम करने का फैसला किया था।

रेलवे एनटीपीसी रिजल्ट का इस वजह से विरोध किया जा रहा है ऐसे समझे

बड़ा सवाल है कि रेलवे एनटीपीसी परीक्षा का विरोध क्यों किया जा रहा है. आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट निकालने के तरीके को लेकर भी अभ्यर्थियों में काफी आक्रोश है. अभ्यर्थियों की मांग है कि 700000 रोल नंबर की बजाय 700000 अभ्यर्थियों को पास किया जाए. यानी 20 गुना यूनिक रोल नंबर के साथ रिजल्ट जारी किया जाए. रिजल्ट में संशोधन की मांग को लेकर अभ्यर्थी प्रदर्शन कर रहे हैं. अभ्यर्थियों ने सोमवार को पटना में राजेंद्र नगर टर्मिनल पर जमकर बवाल भी काटा था. अभ्यर्थियों ने नई दिल्ली-हावड़ा रेल खंड पर करीब आठ घंटे तक ट्रेनों का परिचालन रोके रखा। हालांकि युवाओं के ऐतराज पर रेलवे सफाई दे चुका है। रेलवे भर्ती बोर्ड का कहना है कि कानूनी तौर पर एक अभ्यर्थी को एक से ज्यादा पदों के लिए आवेदन करने से रोका नहीं जा सकता।

रेलवे ग्रुप डी भर्ती को लेकर विरोध इसलिए है

रेलवे भर्ती बोर्ड ने सोमवार को नोटिस जारी किया था, कि ग्रुप डी की परीक्षा के अंदर cbt-2 की एग्जाम भी होगी. सीबीटी फर्स्ट पास करने वाले व्यक्तियों को cbt-2 के लिए बुलाया जाएगा. CBT 1st 2nd के बाद में PET और मेडिकल होगा. जबकि अभी तक अभ्यर्थी यह समझ रहे थे कि सीबीटी फर्स्ट में पास होने वाले व्यक्तियों को PET देना होगा. हालांकि रेलवे ने 2019 में जारी ग्रुप डी भर्ती लेवल के नोटिफिकेशन में साफ लिखा था कि सीबीटी (कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट) सिंगल स्टेज में करवाना है या फिर मल्टी स्टेज में, यह तय करने का अधिकार रेलवे प्रशासन के पास रहेगा। लेकिन फिर भी विद्यार्थियों का विरोध इस पर लगातार जारी है. अगर अब cbt-2 भी होगा, तो नियुक्ति मिलने में ज्यादा समय लग जाएगा. जिसके कारण cbt-2 कराया जाना गलत माना जा रहा है. इसलिए परीक्षार्थी विरोध कर रहे हैं. अब CBT-1 में सफल उम्मीदवारों को CBT-2 देना होगा। CBT-2 में सफल उम्मीदवारों को PET (शारीरिक दक्षता परीक्षा) के लिए बुलाया जाएगा। इसके बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन व मेडिकल होगा।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top